दुनिया का पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट सेना के    मेजर ने किया तैयार, जानिए क्या है खासियत..

दुनिया का पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट सेना के मेजर ने किया तैयार, जानिए क्या है खासियत..

लखनऊ। भारतीय सेना के जवानों के लिए स्नाइपर बुलेट्स से बचाने वाली बुलेट प्रूफ जैकेट बनाने वाले मेजर ने एक ऐसा हेलमेट बनाया है जिससे 10 मीटर की दूरी से दागी गई Ak-47 की गोलियों का असर नहीं होगा। समाचार एजेंसी ANI के अनुसार अभेद्य प्रोजेक्ट के तहत मेजर अनूप मिश्रा ने बैलेस्टिक हेलमेट बनाया है. इस हेलमेट के बारे में दावा किया गया कि दुनिया में ऐसा पहला बुलेटप्रूफ हेलमेट है जो 10 मीटर की दूसरी से AK-47 से चलाई गई गोली से इसे पहनने वाले को बचाएगा। भारतीय सेना के कॉलेज ऑफ मिलिट्री इंजीनियरिंग में अनूप मिश्रा ने इसी प्रोजेक्ट के तहत फुल बॉडी प्रोटेक्शन बुलेट प्रूफ जैकेट बनाया है। दरअसल जम्मू और कश्मीर में तैनाती के दौरान मिश्रा पर दो गोलियां चलीं थी। हालांकि बुलेट प्रूफ जैकेट के चलते गोलियां तो उनके शरीर में नहीं लगीं लेकिन उसका असर जरूर पड़ा। इसके बाद उन्होंने ऐसी बुलेटप्रूफ जैकेट बनाई। यह जैकेट 10 मीटर की दूरी से स्नाइपर की फायरिंग का सामना कर सकता है। तत्कालीन रक्षा राज्य मंत्री, सुभाष भामरे ने जुलाई 2018 में एक लिखित जवाब में लोकसभा को बताया था कि ‘2016-17 के दौरान, रेवेन्यू रूट के माध्यम से भारतीय सेना के लिए 50,000 बुलेटप्रूफ जैकेट खरीदे गए थे। कैपिटल रूट के माध्यम से 1,86,138 बीपीजे की खरीद का अनुबंध अप्रैल 2018 में संपन्न हुआ। इससे पहले दिसंबर 2016 में कैपिटल रूट के माध्यम से 1,58,279 बैलिस्टिक हेलमेट की खरीद के लिए फैसला किया गया था।

Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *