कोरोना संक्रमण से छूटने का बाद भी जरूरी है यह टैस्ट, नहीं तो बढ़ सकती है मुश्किलें

कोरोना संक्रमण से छूटने का बाद भी जरूरी है यह टैस्ट, नहीं तो बढ़ सकती है मुश्किलें

नई दिल्ली। देशभर में इन दिनों कोरोना वायरस ने कोहराम मचा रखा है। हर तरफ अफरा-तफरी का माहौल है। इन दिनों हर रोज़ साढे तीन लाख से ज्यादा नए केस सामने आ रहे हैं। हालात ये हैं कि कोरोना का नया स्‍ट्रेन आरटीपीसीआर की टेस्ट रिपोर्ट को भी चकमा देने लगा है। कई बार मरीज कोरोना पॉजिटिव होता है लेकिन टेस्‍ट रिपोर्ट निगेटिव आ जाती है। ऐसे में जरूरत है सावधान रहने की।

अगर आप कोरोना से ठीक हो गए हैं तो जरूरी है कि आप कुछ टेस्ट करवाएं, जिससे पता लग सके कि आपके शरीर पर वायरस ने कितना नुकसान किया है। आईए एक नज़र डालते हैं उन टेस्ट पर जो कोरोना से ठीक होने के बाद करवाना बेहद जरूरी है।

डॉक्टरों के मुताबिक कोरोना वायरस शरीर के कई अंगों को नुकसान पहुंचाता है। खास कर हमारे फेफड़ों और इम्यून सिस्टम पर हमला करता है। इसलिए जरूरी है कि आप एंटीबॉडी टेस्ट जरूर करें। इस टेस्ट से ये पता लगता है कि आपके बॉडी की एंटी बॉडीज की क्या हालत है। ये टेस्ट कोरोना से ठीक होने के दो हफ्ते के बाद करवाएं।

CBC Test यानी कम्प्लीट ब्लड काउंट टेस्ट शरीर में अलग-अलग कोशिकाओं की जांच के लिए किया जाता है. इससे मरीज को ये अंदाजा हो जाता है कि कोरोना संक्रमण के खिलाफ उनका शरीर कैसी प्रतिक्रिया कर रहा है। कोरोना से रिकवरी के बाद लोगों को ये टेस्ट बेहद जरूरी है।

शुगर और कॉलेस्ट्रोल टेस्ट भी बेहद जरूरी है. खासकर जिन मरीजों को डायबिटीज़ है उन्हें ये टेस्ट करना बेहद जरूरी है। कई बार कोरोना के दौरान लोगों के शरीर में शुगर का स्तर बढ़ जाता है। ज्यादादा गंभीर लक्षण वाले रोगियों को क्रिएटिनिन, लिवर और किडनी फंक्शन टेस्ट की भी सलाह दी जाती है।

Share