सतपाल सिंह सत्ती ने बहडाला में एक करोड़ से निर्मित दो सिंचाई योजनाओं का किया शुभारंभ

सतपाल सिंह सत्ती ने बहडाला में एक करोड़ से निर्मित दो सिंचाई योजनाओं का किया शुभारंभ

ऊना/सुशील पंडित: छठे राज्य वित्तायोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने आज ग्राम पंचायत बहडाला में एक करोड़ रुपये से निर्मित दो सिंचाई योजनाओं का शुभारंभ किया। ये योजनाएं बहडाला बाग और ईंट भट्ठा के नजदीक जनता को समर्पित की गई हैं। इन योजनाओं के संचालन से लगभग 52 हैक्टेयर कृषि भूमि को सिंचाई के लिए जल की आपूर्ति की जाएगी।

इस अवसर पर सतपाल सत्ती ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा जल जीवन मिशन के तहत जहां हर घर को नल के माध्यम से पेयजल आपूर्ति सुनिश्चित की है, वहीं दूसरी और हर खेत को जल उपलब्ध करवानेे के लिए सिंचाई योजनाओं का निर्माण किया जा रहा है ताकि कृषि योग्य भूमि को पर्याप्त मात्रा में जल उपलब्ध हो सके।

सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि वर्तमान राज्य सरकार द्वारा ऊना विधानसभा क्षेत्र का संपूर्ण विकास सुनिश्चित किया गया है। बहडाला स्कूल में लगभग एक करोड़ व्यय करके भवन व डेढ़ करोड़ रुपये की से खेल स्टेडियम का निर्माण किया जा रहा है। बहडाला के मोहल्ला गुरुद्वारा में सिंचाई योजना की मांग पर उन्होंने आश्वासन दिया कि विभागीय अधिकारियों से सर्वे करवाकर जहां संभव होगा रिग के निर्माण के लिए उपयुक्त धनराशि का प्रावधान कर दिया जाएगा।

सतपाल सिंह सत्ती ने कहा कि सरकार ने भवनों व अन्य ढांचागत सुविधाओं को ही सुदृढ़ नहीं किया है बल्कि सरकार ने हर वर्ग के कल्याण के लिए भी कई जनहित योजनाएं कार्यान्वित की हैं। उन्होंने कहा कि हिमकेयर योजना के तहत कामगार व मजदूर वर्ग सहित मध्यम आय वर्गीय लोगों का मात्र 365 रूपये के प्रीमियम पर परिवार पांच लोगों का 5 लाख रूपये तक का चिकित्सा बीमा हो जाता है जिससे किसी भी गंभीर बीमारी की स्थिति में इलाज के लिए गरीब को आर्थिक तंगी का सामना नहीं करना पड़ेगा। उन्होंने पंचायत प्रधानों, जन प्रतिनिधियों व भाजपा कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि वे अपने-अपने क्षेत्र में सुनिश्चित करें कि कोई भी व्यक्ति इन योजनाओं का लाभ पाने से वंचित न रहे। उन्होंने बताया कि हिमकेयर पंजीकरण की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है तथा 31 मार्च से पूर्व पंजीकरण करवाना सुनिश्चित कर लें। इस योजना के तहत अस्पताल में भर्ती होने पर पांच लाख रुपये तक के निःशुल्क उपचार किया जाएगा। योजना के तहत ऊना जिला के 24 अस्पताल पंजीकृत हैं। इसके अलावा गंभीर बीमारियों से ग्रसित पात्र लोगों को सहारा योजना के तहत प्रतिमाह तीन हजार रुपये की आर्थिक सहायता भी प्रदान की जा रही है।

सत्ती ने बताया कि बीपीएल परिवारों की कन्याओं के विवाह के लिए आर्थिक सहायता प्रदान करने की दिशा में मुख्यमंत्री शगुन योजना आरंभ की गई है। योजना के तहत ऐसी कन्याओं को विवाह के लिए 31 हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है। जबकि मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत बेसहारा महिलाओं एवं लडकियों को विवाह के लिए 51 हजार रुपये की वित्तीय सहायता प्रदान की जाती है।

सत्ती ने कहा कि पिछले कुछ दिनों में कोविड के मामलों में वृद्धि हुई है। इसलिए सभी सतर्क रहें और सरकार तथा स्वास्थ्य विभाग द्वारा जारी निर्देशों की अनुपालना करें। सामाजिक दूरी, मास्क का प्रयोग, हाथों की सफाई, व्यक्तिगत स्वच्छता सहित कोविड अनुरुप व्यवहार की हर समय पालना करें।

इस अवसर पर एपीएमसी अध्यक्ष बलबीर सिंह बग्गा, बीडीसी सदस्य राधिका, स्थानीय प्रधान रमेश चंद, उपप्रधान अभिनाश राणा, वार्ड सदस्य रमेश, बलदेव, राममूर्मि, जल शक्ति विभाग के एक्सईएन नरेश धीमान, सहित अन्य उपस्थित रहे।

Share