कोरोना के खात्मे के लिए आरएसएस विहिप ने गौशाला में किया हवन

कोरोना के खात्मे के लिए आरएसएस विहिप ने गौशाला में किया हवन

यज्ञ पर्यावरण को शुद्घ करता पर्यावरण को बचाने के लिए कर्तव्यनिष्ठ होना चाहिए- नरेश पंडित

कपूरथला/चंद्र शेखर कालिया: कोरोना वायरस महामारी से लोग परेशान हैं। दरअसल कोरोना वायरस के संक्रमण को खत्म करने के लिए ही देश के कई हिस्सों में मिनी लॉकडाउन किया गया है।महामारी के इस कठिन वक्त में देश व प्रदेश की सरकारें भी लोगों को कोरोना वायरस से बचाव के लिए घरों में रहने और शोसल डिस्टेंस बनाये रखने की अपील कर रहे है।वहीं,कोरोना वायरस का खात्मा करने के लिए राष्ट्रीय गौधन महासंघ के आह्वान पर देश सभी गौशालाओ और घर-घर यज्ञ, हर घर यज्ञ के नारे तले आरएसएस के वरिष्ठ नेता सुभाष मकरंदी एवं विश्व हिन्दू परिषद जालंधर विभाग के अधक्ष्य नरेश पंडित के नेतृत्व में गोबिंद गौधाम गौशाला में हवन यज्ञ कराया गया।इस दौरान कपूरथला के अनेक लोगो ने भी अपने अपने घरो में परिवारों सहित हवन यज्ञ में आहुतियां दीं, ताकि वातावरण में यज्ञ के धुएं से फैलने से कोरोना का सफाया हो जाए।

सुभाष मकरंदी ने कहा कि हवन से जहां वातावरण शुद्ध होता है, वहीं हवन में आहूति समर्पित करने से मनुष्य के सभी रोग नष्ट हो जाते हैं। इस भावना के तहत कोरोना के प्रकोप को खत्म करने और कीटाणुओं का नाश करने के लिए आज करोना प्रोटोकाल की पालना करते हुए गौशाला में और लोगो ने घर घर में यज्ञ करके आहुति दी।साथ ही सभी प्राणियों की रक्षा की प्रार्थना की।सुभाष मकरंदी ने बताया कि आदि काल से ही राम तथा कृष्ण जैसे पूज्य प्रतिनिधि भी यज्ञ करते थे। मनुस्मृति में बताया गया है कि यज्ञ नहीं करने वाले व्यक्ति को समाज में रहने का अधिकार नहीं है।यज्ञ करने से प्रकृति शुद्घ होती है।यज्ञ उपचार का साधन है।रोगों के अनुसार समिधा और सामग्री का चयन किया जाता है।स्वसन तंत्र के रोगों के लिए गूगल,गिलोय, इलायची,आंवला,जैसी औषधियों का प्रयोग किया जाता है।अग्नि ही शुद्घता देने वाली है।वेदों में यज्ञ से आयु बढ़ने तथा रोगों के नाश होने का वर्णन मिलता है।सुभाष मकरंदी ने बताया कि यज्ञ पर्यावरण को शुद्घ करता है और यज्ञ करने से व्यक्ति का तन मन दोनों ही शुद्घ होता है।इससे रोग नष्ट होते हैं और व्यक्ति स्वास्थ्य को प्राप्त करता है।

नरेश पंडित ने कहा कि हमें पर्यावरण को बचाने के लिए कर्तव्यनिष्ठ होना चाहिए।प्रकृति के साथ छेड़छाड़ करते हैं तो हमें अनसुनी बीमारियों से लड़ऩा पड़ता है।अब विश्व में कोरोना वायरस का प्रकोप है।नरेश पंडित ने कहा कि हवन में कुछ ऐसी विशेष जड़ी-बूटियां डाली गई हैं,जो वायुमंडल में घुलकर विभिन्न प्रकार के विषैले जीवाणुओं को खत्म करती हैं।इससे कोरोना वायरस से भी राहत मिलेगी। नरेश पंडित कहा कि कोरोना की दूसरी लहर बहुत तेजी से फैल रही है व यह पहले से भी अधिक खतरनाक प्रभाव डाल रही है इसलिए हम सभी को सचेत रहने की आवश्यकता है।यह हम सभी के लिए बहुत चिता का विषय है।इस संकट की घड़ी में प्रशासन का समर्थन करना सभी का कर्तव्य है।हम उनकी मदद कर सकते हैं।इसके लिए हमें आगे आना चाहिए।

उन्होंने कहा कि वह प्रभु से अरदास करते हैं कि कोई विकट स्थिति उत्पन न हो।अगर फिर भी कहीं जरूरत पड़े तो उनके कार्यकर्त्ता हर समय प्रशासन का सहयोग करने को प्रशासन का सहयोग करने को तैयार है।इस अवसर पर विश्व हिन्दू परिषद के जिला मंत्री राजू सूद,विश्व हिन्दू परिषद के वरिष्ठ नेता नारायण दास,पवन शर्मा आदि उपस्थित थे।

Share