एन आर आई दलबीर सिंह ने अपने परिवार पर ही लगाए गंभीर आरोप, मुझे है भारत में जान से खतर

एन आर आई दलबीर सिंह ने अपने परिवार पर ही लगाए गंभीर आरोप, मुझे है भारत में जान से खतर

करोड़ों रुपए का मालिक आज एक एक रुपए को भी तरस रहा है

कपूरथला/चंद्र शेखर कालिया: सुल्तानपुर लोधी के सिविल अस्पताल में इलाज अधीन एक एन आर आई की ओर से आपने ही परिवारिक सदस्यों पर गंभीर आरोप लगाए है। बातचीत करते हुए दलबीर सिंह पुत्र जसवंत सिंह वासी इंग्लैंड ने बताया कि वह डेढ़ वर्ष पहले करोड़ों रुपए कमा कर विदेश से इंडिया लौटा था और मेरे परिवारिक मेंबरों ने पावन नगरी सुल्तानपुर लोधी में करोड़ों रुपए की प्रॉपर्टी बनाई है मेरे पैसे से । परंतु अब मुझे हिस्सा ना देना पड़े इसलिए मुझे मानसिक तौर पर परेशान किया गया और मुझे घर में कथित तौर पर 8 महीने के करीब बंधक बनाकर रखा गया।परंतु अब यह स्थिति है कि उसके पास ना तो पासपोर्ट है। ना ही उसके पास मोबाइल और ना ही उसके पास 1 रुपये भी है।

मौजूदा स्थिति यह है कि उसको उसके परिवार के सदस्य उसको पागल करार देना चाहते हैं । पत्रकारों से बातचीत करते हुए दलबीर सिंह ने कहा कि वह 15 वर्ष पहले इंग्लैंड की धरती में गया था और अब डेढ़ वर्ष पहले वह इंग्लैंड की धरती से पंजाब के शहर सुल्तानपुर लोधी में अपने घर लौटा था। जब में लौटा तो एक महीने बाद मेरे परिवारिक सदस्यों ने कथित तौर पर मेरी हमारे किरायेदारों के साथ झगड़ा करवा दिया। परंतु उस वक्त भी मैं उन किरायेदारों पर हमला नहीं किया था और बाद में किरायेदारों के बयानों के आधार पर मुझ पर पुलिस की ओर से मारपीट का मामला दर्ज किया गया था और मुझे गिरफ्तार कर पुलिस की ओर से कपूरथला जेल भेज दिया गया था उन्होंने कहा कि उस वक़्त मेरे परिवार के सदस्यों ने मेरा मोबाइल फोन, मेरा पासपोर्ट वह सभी पैसे भी छीन लिए। जब में जेल से बाहर आया तो कथित तौर पर मेरे परिवार के मेंबरों ने जानबूझकर साजिश के तहत मेरी दुर्घटना करवा दी। जिसमें मेरे सिर पर चोट आई और में कोमा में चला गया। और बाद में मुझे मेरे परिवार के मेंबरों की ओर से अमृतसर के एक अस्पताल में मुझे दाखिल करवा दिया। यहां पर मेरा इलाज चलता रहा और मैं बिल्कुल ठीक हो गया । परंतु मेरे घर वालों ने मेरी एक बार भी सार नहीं ली। और बाद में मुझे कथित तौर पर घर में फिर से घर में बंधक बनाकर रखा।उन्होंने कहा कि मेरे परिवार के मेंबरों के साथ मिलकर हमारे रिश्तेदार भी मुझे जान से मारना चाहते हैं।

उन्होंने कहा कि मेरा इंग्लैंड में शादी भी हुई है । मेरी पत्नी का नाम ऐनी पटेल है और मेरा वहां पर परिवार भी है और हमारे दो बच्चे भी हैं।और में 5 भाषा जानता हूं और मैं इंग्लैंड का पीआर हूं। उन्होंने कहा कि मेरा किसी भी वक्त मेरे परिवार के सदस्य मुझे जान से मार सकते हैं। उन्होंने कहा कि पिछले हफ्ते भी उसके परिवार के सदस्यों ने उस पर कथित पर जानलेवा हमला कर उसको मारने की कोशिश की। और बाद में गंभीर हालत में मुझे वहां पर उपस्थित लोगों ने सिविल अस्पताल में दाखिल करवाया। जहां पर उसके शरीर पर काफी गंभीर चोटों के निशान भी दिखाई दे रहे थे।

उन्होंने पुलिस प्रशासन वह भारत सरकार से मांग की कि मेरे पर अत्याचार करने वाले दोषियों पर बनती कानूनी की जानी चाहिए और विदेश मंत्रालय से मांग की कि मुझे इंग्लैंड वापस मंगाया जाए । पुलिस जांच के बाद ही इस मामले की असल सच्चाई सामने आएगी की जो आरोप दलबीर सिंह की और से लगाए जा रहे हैं वह सच्चे हैं या झूठ है।वहीं इस मामले में जब दलबीर सिंह के परिवार के सदस्यों के साथ संपर्क करना चाहया तो उनका फोन बंद आ रहा था।

Share