कोविड-19 को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवाईजरी

कोविड-19 को लेकर स्वास्थ्य विभाग ने जारी की एडवाईजरी

ऊना (रोहित शर्मा): जिला ऊना में कोविड-19 महामारी के बढ़ रहे मरीजों को ध्यान में रखते हुए स्वास्थ्य विभाग, ऊना द्वारा जन-जागरूकता के लिए एडवाईजरी कर दी गई है। यह जानकारी देते हुए मुख्य चिकित्सा अधिकारी, ऊना डॉ. रमण कुमार शर्मा ने बताया कि जिला में कोरोना का संकट बना हुआ है। अधिकतर मरीज उपचार के पश्चात ठीक हो रहे हैं जबकि कई लोग कोरोना के लक्षण पाए जाने पर भी लापरवाही बरत रहे हैं।
कोरोना के प्रति लापरवाही कमजोर अर्थात बीमारी से शीघ्र ग्रस्त होने वाली आबादी जैसे कि बजुर्गों, ह्रदय रोग, क्रोनिक किडनी रोग, मधुमेह, उच्च रक्तचाप तथा कैंसर इत्यादि से पीडि़त रोगियों के लिए घातक सिद्ध हो रही है। उन्होंने कहा कि कोरोना के लक्षण आने पर मरीज तुरंत जांच करवाएं।

कोविड-19 पॉजिटिव मरीज के प्राथमिक संपर्क में आये लोग तथा खांसी, जुखाम, बुखार से ग्रसित मरीज आगे आयें और शीघ्र ही अपनी कोरोना जांच। यह जाँच सभी सरकारी अस्पतालों में निशुल्क की जाती है।

सीएमओ डॉ. रमन कुमार शर्मा ने कहा कि सभी लोग मास्क का प्रयोग करें, साबुन तथा पानी से हाथ धोते रहें, घर के प्रवेश द्वार पर पानी से भरी बाल्टी तथा साबुन रखें ताकि हाथों को अच्छी तरह धोने के पश्चात ही घर में प्रवेश सुनिश्चित हो। खांसते या छींकते समय अपना मुंह व नाक टिशु/रुमाल से ढकें। खांसी, बुखार का अनुभव होने पर किसी के संपर्क में न आयें और भीड़-भाड़ में न जाएं।

यदि कोई व्यक्ति रिपोर्ट में कोरोना संक्रमित/पोजिटिव पाया जाता है तो वह स्वयं को अलग कमरे में जिसमें साथ सलंग्न टॉयलेट-बाथरूम हो में, आइसोलेट कर ले। उस कमरे व टॉयलेट-बाथरूम को दूसरा सदस्य इस्तेमाल न करे तथा अपने क्षेत्र की आशा वर्कर या स्वास्थ्य कार्यकर्ता से अन्य जानकारी के लिए तुरंत संपर्क करें।

सीएमओ ने कहा कि सकारात्मक रहें और अपने काम एवं जीवन में संतुलन बनाकर रखें। अपनों के संपर्क में रहें और अपनी भावनाओं को सांझा करें। आपका कोविड-19 को खत्म करने में सहयोग अत्यंत महत्वपूर्ण है। कोविड-19 की जागरूकता जन-जन में फैलाएं, इससे स्वयं भी बचें व अन्यों को भी बचाएं। इसके अलावा जिला प्रशासन या स्वास्थ्य विभाग द्वारा समय-समय पर जारी दिशा-निर्देशों की अनुपालना भी सुनिश्चित करें।

Share