खरबूजे व हदवाने की नई किस्मों की काश्त करके चेयरमैन राजिंद्र सिंह नसीरेवाल प्रदेश के किसानों के लिए बने मिसाल

खरबूजे व हदवाने की नई किस्मों की काश्त करके चेयरमैन राजिंद्र सिंह नसीरेवाल प्रदेश के किसानों के लिए बने मिसाल

सुल्तानपुर लोधी/चंद्रशेखर कालिया: पंजाब में अप्रवासी मजदूरों की कमी कारण जहां धान की सीधी बिजाई व धान लगाने के लिए पनीरी बीजने का कार्य जोरों पर चल रहा है। वहीं सुल्तानपुर लोधी के गांव नसीरेवाल के सफल किसान राजिंद्र सिंह नसीरेवाल चेयरमैन लैंड मारगेज बैंक व नौजवान किसान गुरनाम सिंह मुत्ती द्वारा कोरोना महामारी के भयानक दौर में अपने परिवार के साथ मिल कर अपने खेतों में से खरबूजे व हदवाने की विभिन्न नई किस्मों की काश्त करके प्रदेश में अपने गांव का नाम रोशन किया है। इस बारे जायजा लेने पहुंचे खेतीबाड़ी अधिकारी यादविंदर सिंह ने बताया कि क्षेत्र के किसान चेयरमैन राजिंद्र सिंह नसीरेवाल और गुरनाम सिंह मुत्ती द्वारा की मेहनत रंग ला रही है और विभिन्न किस्मों के तैयार खरबूजे व हदवानों की मिठास की चर्चा पंजाब के कोने-कोने में चल रही है। उन्होंने उक्त किसानों के प्रयासों की प्रशंसा करते कहा कि उनको मेहनती व किसानों पर पूरा मान है। जिनकी बदौलत अन्य किसानों का हौंसला बढ़ता है। इस मौके चेयरमैन राजिंद्र सिंह व नौजवान किसान गुरनाम सिंह ने पत्रकारों को बताया कि उन्होंने अपने खेतों में इस बार खरबूजे की किस्मो मधु, बोबी, मरदूल्ला, गुरु व गोल्डन युबैली की फसल बीजी है व हदवाने की किस्मों अरोही, आवनी, सुप्रीत, जन्नत व मन्नत की काशत की है जोकि बहुत ही बढिया कवालिटी के निकल रहे है। उन्होंने बताया कि इनकी मिठास इतनी है कि प्रदेश के विभिन्न शहरों से व्यापारी खुद उनके गांव आकर खरबूजा-हदवाना खरीद रहे है और कीमत भी पूरी मिल रही है।

उन्होंने किसानों को अपील की कि अच्छी कवालिटी की बिजाई करें ताकि बेचने के लिए परेशान ना होना पड़े। उन्होंने कहा कि कोरोना महामारी व लॉकडाउन कारण खरबूजा व हदवाना बेचने समय बेशक कुछ परेशानिया आ रही है। परंतु फिर भी अच्छी व नई किस्म के हाेने कारण बहुत अच्छा उत्साह मिल रहा है। खेतीबाड़ी विशेषज्ञ यादविंदर सिंह ने बताया कि ऐसे किसानों का खेतीबाड़ी विभाग द्वारा विशेष सम्मान किया जाएगा जोकि अन्य किसानों के लिए मिसाल बने है।

केपीटी गांव नसीरेवाल में विभिन्न किस्मों के खरबूजे व हदवाने दिखाते हुए किसान चेयरमैन राजिंद्र सिंह व गुरनाम सिंह मुत्ती व साथ खेतीबाड़ी अधिकारी यादविंदर सिंह जायजा लेते हुए।

Share