दाल फैक्टरी का विवाद गर्माया: नोटिस के बावजूद नहीं रुका अवैध निर्माण, अफसरों पर गिर सकती है गाज

दाल फैक्टरी का विवाद गर्माया: नोटिस के बावजूद नहीं रुका अवैध निर्माण, अफसरों पर गिर सकती है गाज

जालंधर/अनिल वर्मा/वरुण अग्रवाल

लंमा पिड रोड पर स्थित दाल फैक्टरी का विवाद एक बार फिर गर्मा गया है। यहां चल रहे अवैध निर्माण पर कोई कारवाई न करने के बदले तत्कालीन बिल्डिंग इंस्पैक्टर नीरज शर्मा को निगम कमिशनर करणेश शर्मा द्वारा कारण बताओ नोटिस जारी किया गया था मगर बाद इस मामले को धीरे धीरे ठंडे बस्ते मे डाल दिया गया। यहां चल रहे अवैध निर्माण की पैमाईश करने के लिए ज्वाईंट कमिशनर हरचरण सिंह ने एटीपी रविंदर तथा बिल्डिंग इंस्पैक्टर किरणदीप सिंह को मौके पर भेजा था जिसके बाद दाल फैक्टरी के मालिक को भी इस मामले में दस्तावेज पेश करने के लिए नोटिस जारी किया गया था मगर करीब एक महीना बीतने के बाद भी इस मामले में न तो फैक्टरी मालिक की ओर से निगम को कोई ज्वाब भेजा गया और न ही बिल्डिंग विभाग की ओर से अगली कारवाई ही की गई।

निगम की लापरवाही के कारण अब इसी फैक्टरी के तीसरे पोरशन में पहली मंजिल पर भी लैंटर डाल दिया गया है और बड़ी इमारत को पूरी तरह से तैयार कर दिया गया है। इस मामले में बिल्डिग विभाग की खूब किरकिर हो रही है। शहर में इस बात की भी खुलकर चर्चा हो रही है कि निगम अब इस मामले में कोई कारवाई नहीं करेगा और न ही चल रहे अवैध निर्माण को रोका जाएगा क्योंकि इसके बदले लाखों रूपयो की डील पक्की हो चुकी है।

बतां दें कि इस मामले को बिल्डिंग एडहॉक कमेटी की ओर से भी खूब तूल दिया गया था लेकिन बाद में एडहाक कमेटी भी इस मामले को नजरअंदाज करती दिखाई दे रही है। बतां दें इस मामले में विजीलैंस भी कारवाई करने के लिए दस्तावेज जुटा रही है। जिसमें कई अफसरों की लापरवाही खुलकर सामने आ रही है।

इस मामले में एमटीपी को रिपोर्ट पेश करने के लिए आदेश जारी कर दिए गए हैं अगर दस्तावेज सही नहीं हुए तो इमारत के खिलाफ कानूनी कारवाई करने के लिए आदेश जारी किए जाएंगे।

-हरचरण सिंह (ज्वाईंट कमिशनर, नगर निगम जालन्धर )

Share