कैंटोनमेंट बोर्ड ठेका सफाई कर्मचारियों को वेतन ना मिलने पर रोष

कैंटोनमेंट बोर्ड ठेका सफाई कर्मचारियों को वेतन ना मिलने पर रोष

जालंधर कैंट (गुलाटी)। जहाँ कोरोना महामारी के चलते सारकारो की तरफ से सफाई कर्मचारियों को मान सामान देने की बड़ी-बड़ी बातें की जा रही है। वही जलंधर कैंटबोर्ड के ठेका सफाई कर्मचारियों को अपनी मेहनत की कमाई लेने के लिए सड़को पर आना पड़ता है। ठेका सफाई कर्मचारियों ने वेतन न मिलने के विरोध में सोमवार को कैंटबोर्ड परिसर में नारेबाजी कर रोष प्रदर्शन किया और धरने पर बैठ गए। इस पर डिप्टी सीईओ ने संबंधित ठेकेदार से बात कर जल्द ही वेतन दिलवाने का आश्वासन दिया। इसके उपरांत सभी सफाई कर्मचारी अपने काम पर लौट गए।

कैंटबोर्ड के ठेका सफाई कर्मचारियों ने धरने के दौरान कहा कि हमें वेतन नहीं मिला है। इससे हमारे परिवार भुखमरी के कगार पर पहुंच गए हैं। इस कोरोना महामारी के चलते भी सफाई कर्मचारी पूरी मेहनत से कैंट को साफ रखने में अपना योगदान दे रहे हैं। जिसके चलते कैंट सफाई में नंबर 1 पे भी आया। इतनी मेहनत करने के बावजूद भी हमारा हक़ हमे क्यों नहीं दिया जाता। इसलिए अधिकारियों को हमारी समस्या को जल्द से जल्द दूर कराना चाहिए।

इस बारे में कैंटबोर्ड के डिप्टी सीईओ सुधीर कुमार से समस्या दूर कराने की मांग की। सुधीर कुमार ने बताया कि ठेकेदार बदलने के कारण कर्मचारियों का अप्रैल महीने के 12 दिनों का वेतन रुका हुआ है। वह जल्द ही नोटिस जारी कर ठेकेदार को वेतन भुगतान करने का निर्देश देंगे। उन्होंने इस महीने का वेतन भी जल्द ही देने का आश्वासन दिया। इस पर सभी ठेका सफाई कर्मचारी अपने-अपने क्षेत्र में काम पर लौट गए।

Share