भारत-न्यूजीलैंड के Final पर छाया बड़ा खतरा!

भारत-न्यूजीलैंड के Final पर छाया बड़ा खतरा!

नई दिल्लीः बहुप्रतिक्षित वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल में अब बस तीन दिन का वक्त बचा है। टूर्नामेंट का यह महामुकाबला भारत और न्यूजीलैंड के बीच 18 जून से साउथेम्प्टन में खेला जाएगा। इस मुकाबले को लेकर खिलाड़ी, फैन्स, विशेषज्ञ और क्रिकेट दिग्गज सभी बहुत रोमांचित हैं। हर कोई जीत और खिलाड़ियों को लेकर अपनी-अपनी भविष्यवाणी कर रहा है, लेकिन वर्ल्ड टेस्ट चैंपियशिप पर एक बड़ा खतरा छाया हुआ है। इस खतरे की वजह से भारत और न्यूजीलैंड को इस खिताब को बांटना भी पड़ सकता है। दरअसल, 18 से 22 जून के बीच इंग्लैंड में बारिश वर्ल्ड टेस्ट चैंपियनशिप के फाइनल का मजा बिगाड़ सकती है।

मौसम विभाग के अपडेट के मुताबिक, साउथेम्प्टन के रोज बाउल में 18 जून से शुरू हो रहे भारत और न्यूजीलैंड टेस्ट के बीच पूरे पांच दिनों के दौरान बारिश हो सकती है। ऐसे में यह भारत के दो कप्तान विराट कोहली और न्यूजीलैंड के केन विलियमसन को उद्घाटन आईसीसी डब्ल्यूटीसी ट्रॉफी साझा करने के लिए मजबूर कर सकता है। आईसीसी ने 23 जून को टेस्ट के लिए आरक्षित दिन के रूप में अलग रखा है। अगर फाइनल मैच ड्रॉ या टाई होता है तो भारत और न्यूजीलैंड दोनों को संयुक्त रूप से विजेता घोषित किया जाएगा।

इंग्लैंड के पूर्व स्पिनर मोंटी पनेसर ने सोमवार को साउथेम्प्टन के लिए एक मौसम पूर्वानुमान पोस्ट किया, जिसमें 23 जून को रिजर्व डे सहित उन दिनों के दौरान बारिश की 70-80% संभावना दिखाई गई है, जिनमें यह मुकाबला खेला जाना है।

वेदर चैनल और एक्यूवेदर के मुताबिक, साउथेम्प्टन में 17 और 18 जून को गरज के साथ बारिश की संभावना 80% के साथ है। दोनों दिन आंधी-तूफान चेतावनी भी जारी की गई है। दूसरे दिन बादल छाए रहने की उम्मीद है, लेकिन बारिश की संभावना कम है। जबकि 1.5 घंटे बारिश होगी। सभी पांच दिनों के लिए रुक-रुक कर बारिश की भविष्यवाणी की गई है।

ऐसे में बारिश की संभावना एक समस्या पैदा करती है। यह न केवल उद्घाटन आईसीसी डब्ल्यूटीसी फाइनल और परिणाम को खतरे में डालेगा बल्कि 17 जून को बारिश के पूर्वानुमान के साथ दोनों टीमें 17 जून को महत्वपूर्ण अभ्यास से चूक जाएंगी। इसके अलावा, रात में भारी बारिश आउटफील्ड और पिच को प्रभावित कर सकती है, जिससे दोनों कप्तानों विराट कोहली और केन विलियमसन के लिए रणनीति में बदलाव हो सकता है।

यदि मौसम शुष्क है और धूप है, तो अंतिम दो दिनों में स्पिनरों को सहायता मिल सकती है। भारत के पास वाशिंगटन सुंदर के अलावा दो विश्व स्तरीय स्पिनर हैं। विराट कोहली 3 पेसर और 2 स्पिनर के संयोजन में रविचंद्रन अश्विन और रवींद्र जडेजा दोनों के साथ जा सकते थे। लेकिन मौसम का पूर्वानुमान उन्हें चार तेज गेंदबाजों के साथ जाने के लिए मजबूर कर सकता है। जसप्रीत बुमराह, मोहम्मद शमी, इशांत शर्मा और मोहम्मद सिराज ऐसे पेसर हैं, जो बादल छाए रहने और हवा चलने की स्थिति का लाभ उठा सकते हैं।

WTC Final: भारत के खिलाफ न्यूजीलैंड की टीम का ऐलान, जानें कौन हुआ IN और कौन OUT
केन विलियमसन की न्यूजीलैंड के लिए बादल छाए रहने की स्थिति एक बड़ा फायदा होगा, क्योंकि ट्रेंट बोल्ट और टिम साउथी दोनों तरह से गेंद को स्विंग कर सकते हैं। जबकि ऐसी खराब परिस्थितियों में नील वैगनर और काइल जैमिसन की धीमी गति का सामना करना मुश्किल हो सकता है। हालांकि, अगर मौसम का पूर्वानुमान सही रहता है तो पहला दिन ड्रॉ और वाशआउट की संभावना है। अगर बारिश ने आगे के खेल को धो दिया, तो यह काफी बुरा होगा क्योंकि क्रिकेट की दुनिया टेस्ट क्रिकेट में अपने पहले विश्व चैंपियन के बिना रह जाएगी।

Share