अजौली के मयंक कपिल भारतीय सेना में बने लैफ्टीनैंट, पैतृक गांव पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

अजौली के मयंक कपिल भारतीय सेना में बने लैफ्टीनैंट, पैतृक गांव पहुंचने पर हुआ भव्य स्वागत

ऊना/सुशील पंडित: जिला ऊना के गांव अजौली में माता श्रीमती अरीता शर्मा और पिता श्री अशोक कुमार के घर दिनांक 16-03-1996 को जन्मे सुपुत्र मयंक कपिल द्वारा भारतीय सेना में कोर्स SSC 112 कमीशन प्राप्त करके लेफ्टिनेंट बनकर अपने पैतृक गांव अजौली में पहुंचने पर ग्राम वासियों और उनके रिश्तेदारों ने उनका भव्य स्वागत किया। इस मौके पर उनके दादा जसवंत राय कपिला सहित अन्य रिश्तेदारों ने मयंक कपिल को फूल मालाएं पहनाकर उनका भव्य स्वागत किया। जबकि ग्राम पंचायत प्रधान संदीप कपिला सहित अन्य पंचायत प्रतिनिधियों ने मयंक कपिल को शाल व टोपी पहनाकर सम्मानित किया ।इस मौके पर उनके भाई पंशुल कपिल ने भी न्यूजीलैंड से वर्चुअली अपनी उपस्थिति दर्ज करवा कर अपने अनुज को आशीर्वाद और शुभकामनाएं दी। मयंक कपिल के दूर दराज बैठे रिश्तेदारों ने भी वर्चुअली मयंक को शुभकानाएं दी और खुशी का इज़हार किया । गौरतलब है कि मयंक कपिल द्वारा सीडीएस परीक्षा उत्तीर्ण किए जाने के उपरांत उन्होंने चेन्नई में 11 महीने की ट्रेनिंग पूरी की। इस ट्रेनिंग के दौरान 178 अधिकारियों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया, जिनमें भारतीय कैडेट्स में 124 पुरुष और 29 महिला कैडेट्स सहित कुल 153 प्रशिक्षणार्थी उपस्थित रहे। जबकि 25 फॉरेन कैडेट्स में 16 पुरुष और 9 महिला प्रशिक्षणार्थियों के प्रशिक्षण पूरा होने पर वाइस चीफ ऑफ द आर्मी स्टाफ लेफ्टिनेंट जनरल सी पी मोहंती की उपस्थिति में शपथ ली।

लेफ्टिनेंट मयंक कपिल भारतीय सेना में परिवार में पहले सेना अधिकारी बने है। मयंक की शिक्षा एमआईए डीएवी स्कूल मैहतपुर से हुई है। जबकि मयंक कपिल ने वर्ष 2017 में चितकारा विश्वविद्यालय राजपुरा से कंप्यूटर साइंस में बीटेक पास की है। अक्टूबर 2020 में कंबाइंड डिफेंस सर्विसेज (सीडीएस) की परीक्षा उत्तीर्ण करने से पहले वह पुणे में कॉरपोरेट सेक्टर में मल्टीनेशनल कंपनी में सेवारत रहे हैं।

मयंक के घर पर बधाई देने वालों का तांता लगा हुआ है और खूब मिठाईयां वितरित की जा रही हैं व घर में जश्न का माहौल है।

Share