नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के आरोपी को 20 साल कारावास

नाबालिग लड़की से दुष्कर्म के आरोपी को 20 साल कारावास

ऊना/सुशील पंडित /रोहित शर्मा: स्पेशल जज डीआर ठाकुर की अदालत ने 12 साल 9 माह की नाबालिगा को जबरन भगाने और उसके साथ दुष्कर्म करने के आरोपी उपमंडल अंब की सपोरी पंचायत के गांव मुंगाल निवासी 22 वर्षीय सलीम मोहम्मद को दोषी करार देते हुए कठोर कारावास और 32 हजार रूपये जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई है। जुर्माना न देने पर तीन साल का अतिरिक्त साधारण कारावास भुगतना होगा। जानकारी देते हुए जिला न्यायवादी भीष्म चंद ने बताया कि 7 फरवरी 2018 को 12 वर्षीय पीड़िता लड़की के पिता ने अंब पुलिस को शिकायत दी उसकी बेटी का कहीं अता-पता नहीं लग रहा।हमने अपने स्तर पर ढूंढने की बहुत कोशिश की लेकिन नहीं मिली। एक दिन उन्होंने अपनी बेटी को मोहम्मद सलीम की बाइक पर कहीं जाते देखा। उन्होंने सलीम की बाइक रोकने की कोशिश की, लेकिन वह भागने में सफल रहा। इसकी सूचना उसने फौरन बाइक नंबर समेत पुलिस को दी। पुलिस ने आरोपी को झलेड़ा में लापता नाबालिगा सहित पकड़ लिया। जब लड़की का मेडिकल करवाया गया, तो दुष्कर्म की पुष्टि हुई। बच्ची के साथ दलोह खड्‌ड में दुष्कर्म किया गया था। पुलिस ने आरोपी को अरेस्ट करते हुए मामला दर्ज कर लिया। मामले की जांच के बाद आरोपी को कोर्ट में चार्जशीट किया गया।

कोर्ट में मामले की पैरवी करने वाले जिला न्यायवादी भीष्म चंद ने बताया कि मामले की तहकीकात अंब के तत्कालीन एसएचओ इंस्पेक्टर दर्शन सिंह ने की थी।
अभियोजन पक्ष की ओर से मामले में 21 गवाह पेश किए गए। स्पेशल जज डीआर ठाकुर की अदालत ने सलीम मोहम्मद को दोषी करार देते हुए आईपीसी की धारा 376 के तहत 20 साल कठोर करावास भुगतने व 15 हजार जुर्माना अदा करने की सजा सुनाई।
जुर्माना न देने पर उसे 3 साल का साधारण कारावास भुगतना होगा, धारा 363 के तहत 5 साल कठोर कैद, 2 हजार रूपए जुर्माना, जुर्माना न देने पर 6 माह की साधारण कैद, धारा 366 के तहत 7 साल की कठोर कैद, 5 हजार रूपए जुर्माना, जुर्माना देने पर 1 साल की साधारण कैद, धारा 506 के तहत एक साल कठोर कैद, जबकि पोक्सो एक्ट की धारा 4 के तहत 10 साल कठोर कारावास और 10 हजार रूपये जुर्माना, जुर्माना न देने पर 2 साल की साधारण कैद भुगतनी होगी।
Share

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *