Encounter News
Encounter News
Thursday, June 4, 2020 Search Search YouTube Menu

इन गलत आदतों को कहें बॉय-बॉय, वरना पड़ेगा पछताना…

नई दिल्लीः सुंदर दिखने के लिए हम क्‍या कुछ नहीं करते हैं। महंगे-महंगे मेकअप और स्किन केयर प्रोडक्‍ट्स खरीदते हैं और डाइट का ध्‍यान रखते हैं। लेकिन ये सब करने के बावजूद हमारी कुछ ऐसी आदतें हैं जो हमारी सुंदरता को कम करने में ग्रहण का काम कर सकती हैं। जी हां, अपनी कुछ गलत आदतों की वजह से भी संतुलित आहार और बढ़िया स्किन केयर के बावजूद भी चेहरे की सुंदरता कम हो सकती है। तो चलिए जानते हैं उन गलत आदतों के बारे में जो सुंदरता को कम करने का काम कर सकती हैं। यह बात सच है कि कॉफी, सोडा और फ्रूट जूस में मौजूद एसिड या शुगर दांतों के एनेमल को नुकसान पहुंचाते हैं, लेकिन आपको इन सब ड्रिंक्‍स का सेवन करने के तुरंत बाद दांतों को स्‍क्रब नहीं करना चाहिए। कोई भी एसिडिक फूड या ड्रिंक लेने के तुरंत बाद ब्रश करने से दांतों का एनेमल कमजोर हो जाता है। इसकी बजाय पानी से कुल्‍ला कर लें और ऐसा कोई पेय पदार्थ पीने के लगभग 1 घंटे बाद ही ब्रश करें। ऐसा करने से आपके दांतों की सुंदरता और मजबूती बनी रहती है। स्वीमिंग पूल के पानी में कई केमिकल्‍स होते हैं जो कि बालों को नुकसान पहुंचा सकते हैं, इसलिए सूखे बालों में स्वीमिंग करने से बचना चाहिए। स्‍वीमिंग से पहले अपने बालों को नल के पानी से थोड़ा गीला कर लें। स्‍वीमिंग करने के तुरंत बाद बालों को शैंपू जरूर करें। इससे आपके बालों की सुंदरता, चमक और मजबूती बनी रहती है। शैंपू स्‍कैल्‍प यानी सिर की त्‍वचा से प्राकृतिक तेल को खत्‍म करता है। इसलिए अगर अप बहुत ज्‍यादा शैंपू करते हैं तो इसकी वजह से आपके बाल रूखे और बेजान बन सकते हैं। अपने बालों के टाइप के अनुसार आप ये तय कर सकती हैं कि आपको हफ्ते में कितनी बार बाल धोने की जरूरत है। विशेषज्ञों की मानें तो हर 2 से 3 दिनों में बाल धोना सही रहता है। अक्‍सर लोग कान का मैल साफ करने के लिए रूई का इस्‍तेमाल करते हैं, जो कि सही नहीं है। कान साफ करने वाली रूई ईयर वैक्‍स या मैल को और ज्‍यादा अंदर पहुंचा देती है। इससे कान के पर्दे और सुनने में मदद करने वाली कान की छोटी हड्डियों को नुकसान पहुंच सकता है। कान में जमा मैल या वैक्‍स को साफ करने के लिए आप डॉक्‍टर की मदद ले सकते हैं। वैक्सिंग के बाद पेडीक्‍योर करवाने से स्किन पर बड़ी आसानी से बैक्‍टीरिया चिपक सकता है जिसकी वजह से संक्रमण हो सकता है। वैक्सिंग करवाने के कम से कम 24 घंटे बाद पेडीक्‍योर करवाना बेहतर रहता है। पेडीक्‍योर के दौरान नाखूनों के क्‍यूटिकल्‍स भी काटने न दें, क्‍योंकि ये भी कीटाणुओं को स्किन पर प्रवेश करने का बुलावा दे सकते हैं। शेविंग में बार-बार एक ही या पुराना रेजर इस्‍तेमाल करना भी सहीं नहीं है। पुराने रेजर से एक ही जगह पर कई बार शेव करनी पड़ती है जिससे कि कट लगने, रैशेज, जलन और संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। पांच से सात बार शेव करने के बाद रेजर फेंक देना चाहिए। अगर आपको एक ही जगह पर बार-बार रेजर चलाना पड़ रहा है तो इसका मतलब है कि अब आपको उसे फेंक कर नया रेजर ले लेना चाहिए।

546 Views

23 Comments

  1. Pingback: viagra 100mg
  2. Pingback: best cialis site
  3. Pingback: cialis 20mg
  4. Pingback: buy sildenafil
  5. Pingback: buy chloroquine
  6. Pingback: cheap viagra
  7. Pingback: ed pills
  8. Incredible update of captcha breaking package “XRumer 19.0 + XEvil 4.0”:
    captcha breaking of Google (ReCaptcha-2 and ReCaptcha-3), Facebook, BitFinex, Bing, Hotmail, SolveMedia, Yandex,
    and more than 12000 another types of captcha,
    with highest precision (80..100%) and highest speed (100 img per second).
    You can use XEvil 4.0 with any most popular SEO/SMM programms: iMacros, XRumer, GSA SER, ZennoPoster, Srapebox, Senuke, and more than 100 of other programms.

    Interested? You can find a lot of impessive videos about XEvil in YouTube.

    FREE DEMO AVAILABLE!

    Good luck 😉

    http://XEvil.net

  9. Pingback: tadalafil
  10. Pingback: online ed pills
  11. Pingback: ed pills gnc
  12. Pingback: order cialis
  13. Pingback: pharmacy online
  14. I simply want to say I am just all new to weblog and certainly savored your web site. Very likely I’m planning to bookmark your website . You amazingly come with incredible writings. Thank you for sharing with us your web site.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *