Encounter News
Encounter News
Wednesday, December 2, 2020 Search Search YouTube Menu

पंजाबः सोमवार से पटरियों पर दौड़ेंगी पैसेंजर ट्रेनें….

चंडीगढ़. पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह के साथ बैठक के दौरान किसान संगठन पैसेंजर ट्रेनें चलाने को राजी हो गए हैं. किसान संगठनों ने पैसेंजर ट्रेन चलाने का रास्ता साफ कर दिया है. पैसेंजर ट्रेनों के लिए सोमवार से सभी रेलवे ट्रैक खाली कर दिए जाएंगे. कैप्टन अमरिंदर सिंह के मीडिया सलाहकार रवीन ठुकराल ने ट्वीट किया, ‘पंजाब के किसानों ने 23 नवंबर से पूरी तरह से मालगाड़ी और यात्री ट्रेनों को चलाने पर अपनी सहमति दे दी है मुख्‍यमंत्री से मुलाकात के बाद किसान संगठनों ने ये फैसला लिया है।’

बता दें कि कृषि कानूनों के विरोध में किसान संगठन लंबे समय से आंदोलन कर रहे हैं. पंजाब में किसानों ने 25 सितंबर को कई सड़क और रेल यातायात बंद कर दिए थे. इसके बाद सड़क से अपना आंदोलन वापस ले लिया गया लेकिन रेलवे ट्रैक पर इनका विरोध प्रदर्शन जारी था. किसानों ने कई जगह ट्रैक पर टेंट भी लगा दिया था. पिछले काफी समय से राज्‍य में पैसेंजर ट्रेन नहीं चल रही थी. किसान संगठनों के आंदोलन के कारण आम लोगों को भारी परेशानी का सामना करना पड़ा. हालांकि आज मुख्‍यमंत्री से बातचीत में किसान संगठन सभी रेलवे ट्रैक खाली करने पर सहमत हो गए हैं।

पंजाब में किसानों के विरोध प्रदर्शन के कारण 2,220 करोड़ रुपये का नुकसान: रेलवे
रेलवे ने शुक्रवार को कहा कि केन्द्र के कृषि सुधार कानूनों के खिलाफ किसानों द्वारा जारी विरोध के कारण उसे यात्री राजस्व में 67 करोड़ रुपये सहित 2,220 करोड़ रुपये का नुकसान हुआ है. उसने कहा कि 24 सितम्बर से शुरू हुए विरोध प्रदर्शन के कारण 3,850 मालगाड़ियों का संचालन प्रभावित हुआ है. अब तक 2,352 यात्री ट्रेनों को रद्द किया गया या उनके मार्ग में परिवर्तन किया गया. प्रदर्शनकारी किसानों और रेलवे के बीच अभी गतिरोध बना हुआ है क्योंकि रेलवे ने प्रदर्शनकारियों के उस प्रस्ताव को खारिज कर दिया है कि राज्य में केवल मालगाड़ियों को ही चलने दिया जायेगा।