Encounter News
Encounter News
Monday, November 30, 2020 Search Search YouTube Menu

जानिये, कैसे शरीर में हमला करता है कोरोना वायरस

नई दिल्लीः पूरी दुनिया कोरोना वायरस के प्रकोप का सामना कर रही है। कई लोग इस वायरस के चपेट में आने से अपनी जान गंवा चुके हैं। इस बीच एक ऐसा मामला सामने आया है जहां स्पेन के डॉक्टर ने कोरोना वायरस (COVID-19) से संक्रमित होने के बाद अपनी आपबीती बताई है। वे हर रोज अपने शरीर में कोरोना वायरस के लक्षणों पर ट्विटर पर अपडेट कर लोगों में जागरुकता फैला रहे हैं। जानकारी के मुताबिक, येल तुंग चेन स्पेन के मैड्रिड में अस्पताल ‘यूनिवर्सिटारियो ला पाज’ में आपातकालीन चिकित्सक के तौर पर तैनात थे, जहां कोरोना के मरीजों का इलाज करते हुए उनके संपर्क में आने से वे भी कोरोना वायरस से संक्रमित हो गए। 35 वर्षीय येल तुंग चेन डॉक्टर अपने घर में आइसोलेशन (एकांत) में रह रहे हैं। इस दौरान वे अपने फेफड़ों और शरीर में होने वाले परिवर्तन और दर्द की डायरी को लाइव-ट्वीट कर रहे हैं। इस तरह से वह दुनिया भर में कोरोना के मरीजों को जिन लक्षणों का सामना करना पड़ सकता है उसके बारे जागरुकता फैला रहे हैं। वहीं दूसरी ओर उनके फॉलोअर्स उन्हें जल्द ठीक होने की शुभकामनाएं दे रहे हैं। उन्होंने हाल ही में ट्वीट में लिखा है कि कोरोना वायरस के संक्रमित होने के 4 दिन बाद बहुत बुरी तरह से खांसी और थकान महसूस हो रही है। हालांकि अभी कोई सीने में दर्द नहीं है। डॉक्टर येल तुंग चेन ने बात करते हुए कहा कि पूरी दुनिया भर से मुझे शुभकामनाएं मिल रही हैं। ये मेरे लिए बहुत मायने रखता है। उन्होंने ट्वीट में लिखा है कि पहले दिन उन्हें गले में खराश और सिरदर्द रहा लेकिन फेफड़ों में समानता नहीं थी। वहीं चौथे दिन चेन ने कहा कि उनका गला और सिर दर्द ठीक हो गया है। उनकी खांसी में सुधार हुआ, हालांकि उन्हें दस्त थे। उनके फेफड़ों में तरल पदार्थ अभी भी मौजूद था। बताया जा रहा है कि उनका इलाज जारी है। उनकी हालत में पहले से सुधार है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *