Encounter News
Encounter News
Saturday, September 26, 2020 Search Search YouTube Menu

कंगना रनौत की फिर बढ़ी मुश्किलें

मुम्बई। सुशांत सिंह राजपूत केस में मुखर रहने वालीं कंगना रनौत की मुश्किलें कम नहीं हो रही हैं। पहले शिवसेना शासित बीएमसी ने कंगना के दफ्तर को ध्वस्त किया और अब मुंबई पुलिस ने कंगना के खिलाफ ड्रग्स कनेक्शन की जांच शुरू कर दी है। मीडिया रिपोर्ट्स की मानें तो महाराष्ट्र सरकार की ओर से मुंबई पुलिस को जांच के आदेश की कॉपी मिल गई है और अब मुंबई पुलिस ने प्रक्रिया शुरू कर दी है।

हालांकि, अब तक इस बारें विस्तृत जानकारी नहीं आ पाई है कि मुंबई पुलिस ने इसके लिए कोई स्पेशल टीम बनाई है या फिर मामला नारकोटिक्स विभाग को दिया है। बता दें कि बीते दिनों महाराष्ट्र के गृहमंत्री अमित देशमुख ने अध्ययन सुमन के उस पुराने इंटरव्यू के आधार पर मुंबई पुलिस से जांच कराने की बात कही थी, जिसमें उन्होंने कंगना रनौत पर ड्रग्स लेने के आरोप लगाए थे।

महाराष्ट्र के गृहमंत्री अनिल देशमुख ने कहा था, ”विधायक सुनील प्रभु और प्रताप सरनाईक की अपील पर मैंने विधानसभा में जवाब दिया और कहा कि कंगना रनौत के अध्ययन सुमन के साथ रिश्ते थे, जिसने एक इंटरव्यू में कहा कि वह ड्रग्स लेती हैं और उन्हें भी इसके लिए मजबूर किया। मुंबई पुलिस इसकी जांच करेगी।”

हालांकि, गृहमंत्री क इस बयान पर कंगना ने ट्वीट कर प्रतिक्रिया दी थी और कहा था, ‘प्लीज मेरा ड्रग टेस्ट कीजिए, मेरे कॉल रिकॉर्ड्स की जांच कीजिए अगर आपको ड्रग्स पेडलर्स को लेकर मुझसे कोई भी लिंक्स मिलता है तो मैं अपनी गलती मान लूंगी और हमेशा के लिए मुंबई छोड़ दूंगीं। आपसे मिलने के लिए इच्छुक हूं।

गौरतलब है कि कंगना रनौत ने हाल में मुंबई की तुलना पाकिस्तान के अवैध कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी, जिसपर सत्तारूढ़ शिवसेना ने नाराजगी जताई थी। शिवसेना नेता संजय राउत और कंगना के बीच काफी बयानबाजी हुई। कंगना ने कहा कि संजय राउत ने उन्हें मुंबई नहीं आने की धमकी दी थी।

इसके बाद कंगना केंद्र सरकार द्वारा मुहैया कराई गई वाई श्रेणी की सुरक्षा में मुंबई आईं, मगर उनके पहुंचने से पहले बीएमसी ने उनके दफ्तर में तोड़फोड़ कर दी। हालांकि, हाईकोर्ट के आदेश के बाद बीएमसी ने कार्रवाई पर रोक लगा दी और अब कंगना इस मामले में मुआवजे की मांग कर रही हैं।