Encounter News
Encounter News
Monday, July 13, 2020 Search Search YouTube Menu

जरूरी खबरः 30 जून के बाद बदल जाएंगे बैंक खाते से जुड़े ये नियम

नई दिल्ली। आपके बैंक अकाउंट से जुड़े कुछ नियम 30 जून के बाद से बदल जाएंगे। दरअसल, मार्च के अंतिम सप्ताह में पहली बार देशभर में लॉकडाउन के ऐलान के बाद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने करोड़ों बैंक अकाउंट होल्डर्स के लिए एक खास ऐलान किया था। वित्त मंत्री ने बताया था कि किसी भी बैंक सेंविंग्स अकाउंट में तीन महीनों के लिए ‘औसत न्यूनतम बैलेंस’ रखने की अनिवार्यता नहीं होगी। यह अप्रैल, मई और जून के​ लिए लागू हुआ था। अभी तक वित्त मंत्रालय या किसी भी बैंक की तरफ से इस बारे में स्पष्टता नहीं मिली है कि इस छूट को आगे भी बढ़ाया जाएगा या नहीं। सरकार के इस फैसले का मतलब था कि अगर इन तीन महीनों के दौरान किसी बैंक अकाउंट में औसत न्यूनतम बैलेंस नहीं रहता है तो बैंक इस पर पेनल्टी नहीं वसूल सकेंगे। हर बैंक अपने हिसाब से न्यूनतम बैलेंस तय करता है। इन औसत रकम को हर महीने अकाउंट में मेंटेन करना होता है। ऐसा नहीं करने पर बैंक ग्राहकों से पेनाल्टी वसूलता है लेकिन अब तक इस छूट को जून से आगे बढ़ाने के बारे में कोई जानकारी सामने नहीं आई है।
केंद्र सरकार के ऐलान के पहले ही भारतीय स्टेट बैंक ने कहा था कि वो सभी सेविंग्स बैंक अकाउंट पर औसत न्यूनतम बैलेंस की बाध्यता को खत्म कर रहा है। देश के इस सबसे बड़े बैंक ने 11 मार्च को एक बयान जारी कर कहा, ‘एसबीआई के सभी 44.51 करोड़ सेविंग्स बैंक अकाउंट पर औसत न्यूनतम बैलेंस नहीं रखने पर कोई चार्ज नहीं लिया जाएगा।’ इसके पहले मेट्रो शहरों में एसबीआई सेविंग्स आकउंट में न्यूनतम 3,000 रुपए रखना अनिवार्य था। इसी प्रकार अर्ध-शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों के लिए यह रकम क्रमश: 2,000 रुपए और 1,000 रुपए था। मिनिमम बैलेंस नहीं रखने पर एसबीआई ग्राहकों से 5-15 रुपए प्लस टैक्स वसूलता था।