Encounter News
Encounter News
Sunday, May 31, 2020 Search Search YouTube Menu

अच्छी खबर: कल से ट्रेनों की टिकट बुकिंग शुरू, पढ़ें नियम

नई दिल्ली: लॉकडाउन की वजह से देशभर में फंसे लोगों के लिए भारतीय रेलवे की तरफ से एक अच्छी खबर है। देशभर में कोरोना महामारी के बढ़ते संकट के बीच ट्रेन सेवाएं बहाल करने की घोषणा की गई है। 22 मार्च से बंद ट्रेनों को रेलवे 12 मई से आंशिक रूप से बहाल करने जा रहा है। विशेष सुविधा के तहत 30 राजधानी ट्रेन (15 जोड़ी) चलेंगी। देशभर के पंद्रह स्टेशनों के लिए कुछ स्टॉपेज के साथ चुनिंदा ट्रेनें चलाने की तैयारी कर ली है। सभी ट्रेनें वातानुकूलित होंगी। टिकट आरक्षण सोमवार शाम 4 बजे से सिर्फ आईआरसीटीसी की वेबसाइट पर ही शुरू होगा।
रविवार को रेल मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि 15 बड़े शहरों के लिए फिलहाल देश की राजधानी नई दिल्ली से अप और डाउन मिलाकर कुल 30 ट्रेनें चलाई जा रही हैं। इसके साथ ही 12 मई, मंगलवार से एक बार फिर ट्रेन का सफर शुरू हो जाएगा। इन ट्रेनों में राजधानी एक्सप्रेस का किराया मान्य होगा।
इस दौरान दिल्ली से Dibrugarh, Agartala, Howrah, Patna, Bilaspur, Ranchi, Bhubaneswar, Secunderabad, Bengaluru, Chennai, Thiruvananthapuram, Madgaon, Mumbai Central, Ahmedabad और Jammu Tawi के लिए ट्रेनें चलेगी। इन शहरों से ये ट्रेनें वापसी का सफर भी करेंगी।
इसके बाद और शहरों के लिए ट्रेन चलाने पर विचार होगा। बता दें कि 12 मई से जो रेल सेवा शुरू हो रही है, वह श्रमिक स्पेशल ट्रेनों से अलग है। प्रवासी मजदूरों को ले जाने के लिए 300 ट्रेनें चलायी जा रही हैं। ये चलती रहेंगी और इसके लिए यात्रियों का चयन पहले की ही तरह होगा। 12 मई से जो ट्रेनें चल रही हैं, उनके लिए IRCTC की वैबसाइट से बुकिंग होगी। जानकारी के मुताबिक, इन ट्रेनों में सीटों की संख्या कम होगी, क्योंकि शारीरिक दूरी बनाए रखने के नियम का पालन किया जाएगा। रेलवे ने 215 स्टेशनों को Covid Care Centre के रूप में चुना है।
ये स्टेशन कोरोना प्रभावित मरीजों के लिये उपयोग किये जा सकेंगे। 85 स्टेशनों पर स्वास्थ्य सुविधायें रेलवे उपलब्ध करायेगी, व 130 स्टेशनों को राज्य सरकार के आग्रह पर उपलब्ध कराया जायेगा। इन सेंटर के लिए रेलवे ने 20 हजार कोच रिजर्व रखने का फैसला किया है। इन कोच को आगे और शहरों के लिए रेल सेवा शुरू करने में इस्तेमाल नहीं किया जाएगा।
रेलवे ने कहा कि इन ट्रेनों में सीटें आरक्षित कराने वाले यात्रियों को प्रस्थान के समय से कम से कम एक घंटा पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना होगा। शुरुआत में सभी 15 राजधानी ट्रेनों के मार्गों पर वातानुकुलित सेवाएं शुरू होंगी और उनका किराया सुपर-फास्ट ट्रेनों के समान होगा।
अधिकारी के अनुसार, श्रमिक ट्रेनों से उलट इन ट्रेनों के डिब्बों में सभी 72 सीटों पर बुकिंग होगी और इनके किराए में किसी भी प्रकार की छूट की संभावना भी नहीं है। बता दें कि श्रमिक स्पेशल ट्रेनों में एक डिब्बे में अधिकतम 54 यात्रियों को यात्रा करने की अनुमति है।
अधिकारियों ने बताया कि आरक्षण के दौरान प्राप्त टिकटों पर ‘क्या करें और क्या ना करें’स्पष्ट रूप से लिखा होगा। उसमें दिशा-निर्देश भी शामिल होंगे, जैसे- कम से कम एक घंटा पहले रेलवे स्टेशन पहुंचना, प्रस्थान बिंदु पर मेडिकल जांच, कोरोना वायरस संक्रमण से जुड़े अन्य प्रोटोकॉल, मास्क का अनिवार्य रूप से उपयोग तथा आरोग्य सेतु ऐप डाउनलोड करना आदि
उसने कहा कि सिर्फ वैध आरक्षित टिकटधारकों को रेलवे स्टेशन में प्रवेश की अनुमति होगी। उसने कहा कि यात्रियों के लिए प्रस्थान बिंदु पर मास्क पहनना और स्वास्थ्य जांच अनिवार्य होगी, सिर्फ उन्हीं लोगों को ट्रेन में चढ़ने की अनुमति होगी जिनमें वायरस से संक्रमण के कोई लक्षण नजर नहीं आएंगे। अधिकारियों ने बताया कि यात्रा के दौरान ट्रेन बेहद कम स्टेशनों पर रुकेगी।
अधिकारियों ने बताया कि कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने के लिए इन ट्रेनों में यात्रा करने वालों को कंबल, चादर और तौलिया आदि नहीं दिया जाएगा। उन्होंने बताया कि इन ट्रेनों में वातानुकूलन के लिए विशेष नियम होंगे, तापमान सामान्य दिनों के मुकाबले थोड़ा ज्यादा रखा जाएगा और डिब्बों के भीतर ज्यादा से ज्यादा ताजा हवा की आपूर्ति सुनिश्चित की जाएगी।

624 Views