Encounter News
Encounter News
Tuesday, March 2, 2021 Search Search YouTube Menu

सावधानः सर्दी में इन 7 गलतियों से भी होती है इम्यूनिटी कमजोर..

नई दिल्ली। सर्दी के मौसम में हमारा इम्यूनिटी सिस्टम कमजोर हो जाता है। हामारी कुछ मामूली गलतियों के चलते इम्यूनिटी वीक हो जाती है और शरीर इंफेक्शन-बैक्टीरिया से लड़ने की क्षमता खो बैठता है। आइए जानते हैं कि आखिर हमारी कौन सी गलतियों के चलते इम्यूनिटी कमजोर होती है और हम इसे कैसे दुरुस्त कर सकते हैं।

पानी की कमी- सर्दी के मौसम में लोगों को कम प्यास लगती है, लेकिन इसका मतलब ये बिल्कुल नहीं कि शरीर को पानी की जरूरत ही नहीं है। सर्दी में कम पानी पीने की वजह से बॉडी डीहाइड्रेट होने लगती है और इम्यूनिटी पर इसका बुरा असर पड़ने लगता है। इसलिए सर्दी के मौसम में पर्याप्त पानी पीएं।

फल-सब्जियां न धोना- बाजार से आई फल-सब्जियों को सीधे खाने की गलती कभी न करें। इनमें लगे कैमिकल शरीर में जाकर आपकी इम्यूनिटी डाउन कर सकते हैं। फल-सब्जियों को साफ पानी में अच्छे से धोएं और ढंग से पकाकर खाएं।

जंक फूड- जंक फूड का अत्यधिक सेवन मोटापे यानी ओबेसिटी को ट्रिगर करता है. इसके ज्यादा सेवन से मेटाबॉलिक डिसॉर्डर का शिकार हो सकते हैं। इसलिए जंक फूड, डीप फ्राई और ट्रांस फैट से एकदम दूरी बना लें। इसकी जगह हेल्दी फैट यानी गुड फैट का सेवन करें।

शुगर फूड- शरीर में शुगर की अत्यधिक मात्रा भी कई तरह की शारीरिक समस्याओं के बढ़ावा देती है।पेस्ट्री, कुकीज और डोनट जैसे शुगर से भरपूर फूड खून में ग्लूकोज के स्तर को अनियंत्रित कर देते हैं. इस तरह की चीजें आपके परफेक्ट बैलेंस इम्यून सिस्टम को धीरे-धीरे खोखला करते हैं।

नमक- नमक के बहुत ज्यादा सेवन से शरीर में ब्लड प्रेशर और वॉटर रिटेंशन की समस्या बढ़ती है. हमारे इम्यून सिस्टम को खराब करने के लिए ये एक चीज काफी है। इसलिए एक्सपर्ट हाई सोडियम वाले फूड से दूरी बनाने की सलाह देते हैं।

खाना बंद न करें- अक्सर लोग वजन कम करने के चक्कर में सर्दी में एक समय का खाना छोड़ देते हैं. ऐसा करना बिल्कुल गलता है. खाने-पीने की चीजें छोड़ने से बॉडी की ऊर्जा समाप्त होने लगती है, जिसका सीधा असर हमारी इम्यूनिटी पर पड़ने लगता है. बेहतर होगा कि आप उस एक स्लॉट में ड्राई फ्रूट जैसी चीजें खाएं।

प्रोटीन- शरीर में प्रोटीन की कमी से इम्यूनिटी कमजोर पड़ने लगती है. इम्यूनिटी दुरुस्त रखने के लिए शरीर में इस न्यूट्रिशन की पर्याप्त मात्रा का होना बहुत जरूरी है।