मामलाः लाल बाजार में आग की चपेट में आकर युवक की मौत का

पुलिस ने किया बड़ा खुलासा, आरोपी करता था मृतक युवक से कुकर्म

जालंधर (वरुण): लाल बाजार में आग की चपेट में आकर दम तोड़ने वाले प्रवासी मजदूर संजीत माहतो के मामले में सीआईए स्टाफ ने बड़ा खुलासा किया है। संजीत की मौत एक हादसा नही बल्कि सोची समझी साजिश थी। पुलिस ने कमरे में आग लगाकर संजीत को आग के हवाले करने वाले आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। आरोपी की पहचान सचिन कुमार पुत्र कमल माहतो निवासी सुदां चौक के रूप में हुई है।

जानकारी देते हुए डी.सी.पी. गुरमीत सिंह ने बताया कि 26 फरवरी की सुबह संजीत का शव उसके लाल बाजार स्थित कमरे में जला हुआ मिला था। संजीव ने सिर्फ टीशर्ट पहनी थी लेकिन बाकी कपड़े नही थे। मौके पर पहुंची सीआईए की टीम को शक हुआ तो जांच में पाया गया कि सचिन अक्सर संजीत के कमरे में आया करता था। पुलिस ने कुछ इनपुट पर काम करते हुए सचिन को काबू कर लिया। सचिन से पूछताछ की गई तो पता लगा कि सचिन संजीत का कुकर्म करता था। 25 फरवरी की रात को सचिन ने संजीत को ज्यादा शराब पिला दी और जब संजीत को ज्यादा नशा हुआ तो सचिन ने संजीव के साथ कुकर्म शुरु कर दिया लेकिन उसी दौरान संजीत की तबियत बिगड़ गई। डॉक्टर के पास ले जाने की जगह और अपना कारनामा छुपाने के लिए कमरे में आग लगा दी और संजीत भी उसकी चपेट में आ गया जिसके कारण उसकी मौत हो गई। पुलिस ने सचिन खिलाफ केस दर्ज कर आगे की जांच शुरू कर दी है।

About the author