encounter logo copy

भाजपा का कोई नेता हो सकता है कैंट बोर्ड का सिविल सदस्य

जालंधर कैंट (गुलाटी)। कैंट बोर्ड के पार्षदों का कार्यकाल 10 जनवरी को खत्म होने के बाद सिविल सदस्य बनने और चुनावों को लेकर कई तरह की च्रचाओं का बाजार पिछले कई दिनों से गर्म है, लेकिन अभी तक कोई तस्वीर साफ नहीं हो सकी है। लेकिन इन्ही चर्चाओं के बीच एक चर्चा यह भी सामने आ रही है कि हाईकमान भाजपा के किसी नेता को सिविल सदस्य बना सकती है और वह नेता कैंट का एक पूर्व पार्षद भी हो सकता है।

10 जनवरी के बाद बोर्ड अभी तक बिना सिविल सदस्य के चल रहा है और इसको देखते हुए सूत्रों का कहना है कि हाईकमान जल्द ही किसी सिविल सदस्य के नाम की घोषणा किसी भी समय कर सकता है। हाईकमान को बोर्ड से 19 मार्च तक तीन सिविल लोगों के नाम की सूचि मांगी थी जिसके तलते बोर्ड अध्यक्ष ने तीन नामों की सूचि हाईकमान को भेजी जा चुकी है।

इसी बीच पिछले दिनों एक चर्चा यह भी आई थी कि जुलाई के अंत तक कैंट बोर्ड के चुनाव हो सकता है लेकिन उसकी तस्वीर भी अभी साफ नहीं हो सकी है लेकिन जानकारों का कहना है कि चुनाव के लिए कम से कम 6 महीने का समय चाहिए होता है और चुनावों से पहले 60 दिन पहले नोटिफेकशन आने का समय होता है और उसके बाद सप्लीमेंट लिस्ट बननी नोमिनेशन जैसी प्रक्रियाओं का होना होता है।

इस सबंध में एक पूर्व पार्षद का कहना है कि अभी तक कुछ भी साफतौर पर नहीं कहा जा सकता है , लेकिन ऐसे में चुनावों की संभावना कम नजर आ रही है। ऐसे में जब तक कोई तस्वीर साफ नहीं होती तब तक इस मामले को लेकर चर्चाओं का बाजार गर्म रहेगा।

About the author